इंजन क्या है और इंजन के प्रकार-Engine In Hindi सम्पूर्ण जानकारी 2021

Spread the love

आइए दोस्तों हम इस Article के माध्यम से इंजन के बारे में संक्षिप्त रूप से समझेंगे। इंजन क्या है और इंजन के प्रकार और उसके प्रकार के आधार पर उपयोग होने वाला ईंधन, इंजन के कार्य, इंजन के स्ट्रोक, प्रज्वलन के प्रकार और cooling के प्रकार इत्यादि के बारे में समझेंगे। इंजन का उपयोग विभिन्न प्रकार के क्षेत्र में होता है जैसे की ऑटोमोबाइल इंडस्ट्रीज, मरीन इंडस्ट्रीज आदि में इसकी उपयुक्तता के अनुसार यह विभिन्न क्षेत्रों में उपयोग किए जाते हैं, तो चलिए हम एक के बाद एक topic को complete करते हुए इंजन को समझने की कोशिश करते हैं।

इंजन क्या है?/ Engine In Hindi?

इंजन क्या है- इंजन एक ऐसा मशीन और device है जो ईंधन के chemical energy (heat energy) को mechnical energy मे convert करता है। इसे इंजन कहते है।

इंजन क्या है

इंजन के प्रकार/Types of Engine In Hindi –

इंजन के प्रकार/Types of Engine In Hindi- इंजन दो प्रकार के होते हैं-

⚫ बाहरी दहन इंजन/External Combustion Engine
⚫ आंतरिक दहन इंजन/ Internal Combustion Engine

  • बाहरी दहन इंजन/External combustion Engine External Combustion Engine वह इंजन होता है जिसमे ईंधन इंजन के बाहर जलता है जिससे heat energy उत्पन्न होती है उसी heat energy से fluid भाप में परिवर्तित हो जाता है जिसके high pressure generate होने के कारण piston move हो पाता है। उदा. भाप इंजन (Steam Engine)
  • आंतरिक दहन इंजन/ Internal combustion Engine Internal Combustion Engine वह इंजन होता है जिसके cylinder में combustion chamber होता है और इसी cylinder के अंदर fluid (ईंधन) जलता है। जिससे heat energy उत्पन्न होती है जिसकी सहायता से piston move हो पाता है।
    • ये Internal combustion Engine दो प्रकार के होते हैं-
      • स्पार्क इग्निशन इंजन/ Spark Ignition Engine
      • कंप्रेशन इग्निशन इंजन/ Compression Ignition Engine
  • Spark Ignition Engine इस प्रकार के इंजन में spark plug का use किया जाता है जिससे चिंगारी उत्पन्न की जाती है और उस चिंगारी के द्वारा ईंधन को जलाया जाता है। जैसे- पेट्रोल इंजन और गैसोलीन इंजन।
  • Compression Ignition Engine इस प्रकार के इंजन में हवा के दबाव के द्वारा उत्पन्न की गई energy से ईंधन (fuel) को जलाया जाता है। जैसे- डीजल इंजन

इंजन का वर्गीकरण/classification of engine-

Stroke के संख्या के आधार पर इंजन के प्रकार-

⚫ Four Stroke Engine
⚫ Two Stroke Engine

  • Four Stroke Engine ये वे इंजन होते है जिसमे piston 4 बार (TDC से BDC) गति करता है। दो बार ऊपर की ओर (BDC से TDC) और दो बार नीचे की ओर (TDC से BDC)। इस प्रकार stroke का एक चक्र पूरा होता है इसे हो four stroke engine कहते हैं। ये इंजन वजन में भारी होते है।
  • Two Stroke Engine ये वे इंजन है जिसमे piston दो बार TDC से BDC की ओर गति करता है। जिसे स्टॉक का एक चक्कर पूरा होता है। उसे टू स्ट्रोक इंजन कहते हैं।

सिलेंडर की संख्या के आधार पर इंजन के प्रकार-

⚫ सिंगल सिलिंडर इंजन/ Single Cylinder Engine
⚫ डबल सिलिंडर इंजन/ Double Cylinder Engine
⚫ मल्टी सिलिंडर इंजन/ Multi Cylinder Engine

  • सिंगल सिलेंडर इंजन/ Single Cylinder Engine जिस इंजन में केवल एक ही सिलेंडर होता है उसे सिंगल सिलेंडर इंजन कहते हैं इस प्रकार के इंजन सम्मानित मोटरसाइकिल और स्कूटर में उपयोग करे जाते हैं।
  • डबल सिलिंडर इंजन/ Double Cylinder Engine जिस इंजन में 2 सिलेंडर मौजूद होते हैं उसे डबल सिलेंडर इंजन कहते हैं।
  • मल्टी सिलिंडर इंजन/ Multi Cylinder Engine वे Engine जिसमें दो से ज्यादा सिलेंडर होते हैं उन्हें मल्टी सिलेंडर इंजन कहते हैं यह मल्टी सिलेंडर इंजन 3,4,6,8 और 16 सिलेंडर के हो सकते हैं

Cooling के आधार पर इंजन के प्रकार

⚫ Air Cooled Engine
⚫ Water-cooled Engine

  • Air Cooled Engine- इन इंजन में हवा के द्वारा इंजनों को ठंडा किया जाता है। Air cooled engine सामान्यतः motorcycle and scooter
  • Water cooled engine इन इंजनों में water का उपयोग cooling के लिए किया जाता है। Water cooling engine का उपयोग car, bus, truck इत्यादि में होते है। इस water में antifreezing agent मिलता है ताकि water ठंडे दिनों में जम ना जाए।सभी इंजन के पास radiator होता है जो इंजन के गर्म पानी को cooling करता है।

Cylinder के Arrangement के आधार पर के प्रकार इंजन के प्रकार-

⚫ Inline Engine
⚫ Opposed Cylinder Engine
⚫ ‘V’ Shape Engine
⚫ Radial Cylinder Engine

  • Inline Engine- Inline Engine में cylinder एक ही line में लगे होते है।
  • Opposed cylinder Engine– इन इंजनों में cylinder एक दूसरे के आमने सामने लगे होते है।
  • ‘V’ Shape Engine– ‘V’ engine में इंजन cylinder ‘V’ shape बनाते है।।
  • Radial Cylinder Engine– इन इंजनों में सभी cylinder एक वृत बनाते है।

इसे भी पढ़ेPLASTIC KYA HAI ? (WHAT IS PLASTIC)|प्लास्टिक के बारे में संपूर्ण जानकारी हिंदी में। 2021

Speed (RPM) के आधार पर इंजन के प्रकार-

⚫ Low-Speed engine
⚫ Medium-speed engine
⚫ High-Speed engine

उपयोग के आधार पर इंजन के प्रकार-

⚫ Marine Engine
⚫ Locomotive Engine
⚫ Stationary Engine
⚫ Automotive Engine
⚫ Aircraft engine

  • Marine Engine– ये इंजन जलीय क्षेत्रों में अवगमन साधन में के काम आता है। ये इंजन Boat और बड़े – बड़े पानी जहाजों में लगे होते है।
  • Locomotive Engine locomotive Engine ka उपयोग ट्रेन को चलाने में किया जाता है।
  • Stationary Engine ये Engine वे इंजन है जिसका ढांचा गति नहीं करता है, वह एक जगह पर fix होता है। इस प्रकार इंजन का उपयोग pump, Power Generator, Mill और factory इत्यादि में होता है।
  • Automotive Engine– इस प्रकार के इंजन का उपयोग Automobile Industries में किया जाता है। जैसे डीजल इंजन, गैस इंजन, पेट्रोल इंजन ।
  • Aircraft engine– इस प्रकार के इंजन का उपयोग हवाई जहाज, जेट विमान में किया करा है। इस प्रकार के इंजन की efficiency बहुत ही high होती है।

तो इस पोस्ट के हमने इंजन क्या है और इंजन के प्रकार के बारे में अध्ययन किया।

आपको हमारा ये पोस्ट इंजन क्या है और इंजन के प्रकार कैसा लगा आप नीचे comment box में comment करके अपनी प्रतिक्रिया जरूर दे। अगर अपको ये पोस्ट इंजन की जानकारी अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर कजिए।

Leave a Comment

%d bloggers like this: