छत्तीसगढ़ के Top पर्यटन स्थल की जानकारी 2022|Chhattisgarh Tourist Places in Hindi

Spread the love

छत्तीसगढ़ मध्य भारत का एक महत्वपूर्ण राज्य है जिसकी राजधानी रायपुर है। छत्तीसगढ़ राज्य अपनी विशाल वन क्षेत्र, खनिज सम्पदा, खूबसूरत घाटी, झरनों और नदियों के लिए जानी जाती है। छत्तीसगढ़ में धान की पैदावार अन्य राज्यों की तुलना में अधिक होने के कारण छत्तीसगढ़ राज्य को धान का कटोरा कहा जाता है। अगर छत्तीसगढ़ के इतिहास की बात की जाये तो इसका जिक्र महाभारत और रामायण की महागाथाओं में मिलता है। प्राचीन समय की बात करें तो छत्तीसगढ़ राज्य को दक्षिण कौशल के नाम से जाना जाता था। छत्तीसगढ़ राज्य अपनी कला-संस्कृति और धार्मिक महत्वों के कारण पूरे देश-विदेश में एक अलग ही पहचान बनाया हुआ है। यहाँ की विविध वन्य क्षेत्र और पहाड़ी श्रृंखलाओं की सौंदर्य इतनी है कि यह किसी जन्नत से कम नहीं लगते जो पर्यटकों को काफी आकर्षित करते है।

छत्तीसगढ़ के वनों में विभिन्न प्रकार के जड़ी-बूटी पायी जाती जिस वजह से छत्तीसगढ़ को हर्बल स्टेट भी कहा जाता है। छत्तीसगढ़ राज्य के लोग मेहमान नवाज़ी में कोई कसर नहीं छोड़ते। यह राज्य अपनी आदिवासी जीवन शैली और कला संस्कृति को आज भी समेटा हुआ है जहाँ आज भी यहाँ मांदर की थाप गूंजती है। साथ ही साथ छत्तीसगढ़ राज्य का पर्यटन लोगों को बहुत आकर्षित करता है यहाँ कई ऐसे ऐतिहासिक स्थल, प्राचीन धार्मिक स्थल, गुफाएँ, छोटे-बड़े वॉटरफॉल, वन्य अभ्यारण, फन पार्क और घूमने की जगह है जिसे देखने देश-विदेश के विभिन्न क्षेत्रों से पर्यटक आते हैं। आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से छत्तीसगढ़ के टॉप टूरिस्ट प्लेसेस (chhattisgarh tourist places in hindi) के बारें में चर्चा करेंगे।

Chhattisgarh Tourist Places in hindi

छत्तीसगढ़ का सबसे बेस्ट टूरिस्ट प्लेस चित्रकोट जलप्रपात – chhattisgarh ka best tourist place Chitrakote Waterfall in Hindi

छत्तीगढ़ के जगदलपुर सिटी से लगभग 40 किलोमीटर की दूरी पर स्थित चित्रकोट जलप्रपात की प्रसिद्धि पुरे देश-विदेश तक है। हर साल छत्तीसगढ़ की इस खुबसूरत वॉटरफॉल को देखने देश-विदेश से काफी पर्यटक आते है। अगर छत्तीसगढ़ की टॉप 10 सबसे प्रसिद्ध टूरिस्ट प्लेस की बात की जाये तो छत्तीसगढ़ का यह चित्रकोट जलप्रपात उनमे से एक है। चित्रकोट वॉटरफॉल की खास बात यह है कि करीब 90 फ़ीट की ऊँचाई और 300 मीटर चौड़ा होने के कारण यह अद्भुत जलप्रपात छत्तीसगढ़ का नहीं बल्कि भारत का सबसे अधिक चौड़ाई वाला जलप्रपात है और इसकी आकृति घोड़े के नाल के सामान होने की वजह से इस वॉटरफॉल की तुलना अमेरिका के niagara fall के साथ की जाती है इसलिए इस जलप्रपात को भारत की mini niagara fall भी कहा जाता है।

chhattisgarh tourist places in hindi

चित्रकोट वॉटरफॉल की खूबसूरती इतनी है कि उसे देख आपकी ऑंखें टस से मस न होगी क्योकि यह वॉटरफॉल किसी के भी मन को मोह लेने में कोई कसर नहीं छोड़ती। यह जलप्रपात छत्तीसगढ़ का most adventures पिकनिक स्पॉट है इसलिए यहाँ हमेशा भीड़ देखने को मिलती है। अगर आप इस वॉटरफॉल को बहुत करीब से देखना चाहते हो तो नीचे जरूर जाये जहाँ आप बोट राइड के मजे ले सकते है। इसके अलावा आप यहाँ मोटरबाइक पैराग्लाइडिंग, नेचर ट्रेल ट्रैकिंग और कैंपिंग जैसी एडवेंचर एक्टिविटीज का लुफ्त उठा सकते है। यहाँ बेहतरीन वुडेन रिसोर्ट की भी है जिनमे ठहर कर आप यहाँ फैली खूबसूरत हरियाली का आनंद ले सकते है। चित्रकोट वाटरफॉल को देखने का सबसे सहीं समय जुलाई से अक्टूबर के बीच का होता है।

और पढ़े – जनवरी में घूमने के लिए ये जगहें बिल्कुल सही रहेंगी

छत्तीसगढ़ में घूमने की जगह गंगरेल डैमchhattisgarh me ghhumne ki jagah Gangrel Dam in Hindi

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से लगभग 90 किलोमीटर की दूरी पर धमतरी जिले के महानदी पर बना गंगरेल डैम छत्तीसगढ़ की टॉप टूरिस्ट प्लेस में से एक है जिसे रवि शंकर सागर बांध के नाम से जाना जाता है। इस गंगरेल डैम का निर्माण 1978 में किया गया था। महानदी पर बना यह खूबसूरत डैम अपने अंदर अताह जल राशि सामने के साथ छत्तीसगढ़ राज्य का सबसे लम्बा डैम है जिसकी खूबसूरती को देखने देश विदेश से पर्यटक यहाँ दस्तक देते है। यह डैम देखने में इतना विशाल है कि विभिन्न द्वीपों से घिरा समुंद्र का एहसास दिलाता है। वर्तमान में गंगरेल डैम की प्रसिद्धि पर्यटकों के बीच इसलिए बढ़ी क्योकि यहाँ करीब 1 किलोमीटर लम्बी आर्टिफीसियल Beach का निर्माण किया गया है जो देखने में एक असली समुद्री Beach के भली भांति दिखाई पड़ता है। इस Beach को इस प्रकार से तैयार किया गया कि आप इस Beach में आप jet ski, Boat Ride, family cruise, parasailing और aqua cycle जैसे विभिन्न वाटर एक्टिविटीज़ का आनंद ले पाएंगे जो इस जगह की आकर्षण का केंद्र है।

chhattisgarh tourist places in hindi

वाटर स्पोर्ट्स एक्टिविटीज़ के चलते यहाँ आये दिन काफी पर्यटकों की भीड़ देखने को मिलती है इस कारण गंगरेल डैम को छत्तीसगढ़ का मिनी गोवा भी कहा जाता है। अगर आप गंगरेल डैम आते है तो यहाँ की शाम का Sunset का खुबसूरत नज़ारा देखना न भूलें। गंगरेल डैम में खूबसूरत गार्डन भी बना हुआ है जिसकी हरियाली के बीच आप शांति का अनुभव करेंगे। फैमिली के साथ छुट्टियाँ बिताने के लिए छत्तीसगढ़ गंगरेल डैम बहुत ही बेहतरीन जगह है जहाँ आपको लक्ज़री रिसोर्ट, कैफ़े और कैंटीन की सुविधा मिलती है। छत्तीगढ़ का मिनी गोवा कहे जाने वाली गंगरेल डैम की प्राकृतिक सौंदर्य का आनंद उठाने चाहते हैं तो यहाँ आने का सबसे सही समय जुलाई से लेकर मार्च तक होता है।

और पढ़े – मनाली में घूमने की जगहों के बारे में जानकारी

छत्तीसगढ़ का प्रसिद्ध दार्शनिक स्थल भोरमदेव टेम्पलChhattisgarh ka prasidh Darshnik sthal Bhoramdev Temple in Hindi

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से 125 किमी और कबीरधाम से लगभग 17 किलोमीटर की दूरी पर चौरागाँव के हरी भरी घाटियों के बीच स्थित भोरमदेव देव मंदिर है। लगभग हज़ार साल पुराना भोरमदेव मंदिर छत्तीसगढ़ की सबसे प्रसिद्ध दार्शनिक स्थलों में से एक है। इस मंदिर को देखने देश-विदेश से पर्यटक हर साल यहाँ आते है। इस मंदिर का निर्माण भड़िगनागवंशी राजाओं के काल में 7वी से 12वी शताब्दी के बीच करवाया गया था। ऐसी मान्यता है कि गोड़ राजाओं के देवता भोरमदेव थे जो भगवान शिव जी का ही एक नाम है। इस कारण इस मंदिर का नाम भोरमदेव पड़ा। भोरमदेव मंदिर की खास बात यहाँ है कि नागर शैली में निर्मित इस मंदिर के बाहरी दीवारों में कामुक प्रतिमाएँ, गज,अश्व, नृतक-नृतिकाएँ, देवी-देवताओं की खुबसूरत नक्काशी देखने को मिलती है।

भोरमदेव मंदिर को छत्तीसगढ़ का खजुराहो भी कहा जाता है क्योकि इसकी छवि म.प्र. के छत्तरपुर जिले में स्थित खजुराहो मंदिर और ओड़िसा के कोणार्क सूर्य मंदिर के सामान है। भगवान शिव को समर्पित भोरमदेव मंदिर की वास्तुकला और खूबसूरत नक्काशी की प्रसिद्धि देश के कोने-कोने में है। इस जगह राज्य सरकार द्वारा मार्च के अंतिम सप्ताह और अप्रैल के पहले सप्ताह तक भोरमदेव महोत्सव का आयोजन कराया जाता है जिसमे काफी भीड़ देखने को मिलती है। भोरमदेव मंदिर के परिसर में स्थित और भी प्राचीन मंदिर है जिनके आप दर्शन कर सकते है। इसके आलावा यहाँ पुरातात्विक संग्रहालय भी है जहाँ आप 1000 साल पुरानी मूर्तियों को देख पाएंगे। अगर आप छत्तीसगढ़ टूर पर निकले हैं तो इस ऐतिहासिक मंदिर को देखना न भूलें।

और पढ़ें – दिसंबर महीने में आप ये जगह घूमने जा सकते हैं।

छत्तीसगढ़ का प्रसिद्ध पर्यटन स्थल कुटुमसर गुफाChhattisgarh ka Prasidh Parytan sthal Kutumsargufa in Hindi

छत्तीसगढ़ की धरती में आपको ऐसे कई हैरत अंगेज कर देने वाली जगह देखने को मिलेंगी जिसे देख आप वाकिये में आश्चर्य चकित हो जायेंगे। उनमे से एक बस्तर जिले के जगदलपुर शहर से लगभग 40 किलोमीटर दूर पर कुटुमसर की गुफा है। यह कुटुमसर गुफा छत्तीसगढ़ की प्रसिद्ध पर्यटन स्थल में से एक है जो कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान के घने जंगलो के बीच कांगेर लाइमस्टोन बेल्ट में स्थित है। यह गुफा ब्रिटिस काल में लोगो के बीच अस्तित्व में आया। कुटुमसर गुफा की खास बात यह है कि प्रकृति से निर्मित यह गुफा भारत की सबसे लम्बी गुफा में से एक है। यह रहस्यमयी गुफा लगभग 200 मीटर लम्बी है और 35 मीटर गहरी है। इसी वजह से यहाँ ऑक्सीजन की कमी को महसूस किया जा सकता है।

इस गुफा में कई अद्भुत चीज़े देखने को मिलेंगे। इस गुफा में आपको लगातार चुने का जमाओ देखने को मिलता है और गुफा के अंत में एक स्टैलेग्माइट का निर्माण होता है जिसकी आकृति शिवलिंग के सामान है। गुफा के अंदर स्थानीय लोगो द्वारा पूजा अर्चना की जाती है। इन्ही सब चीज़ो के वजह से कई वैज्ञानिको और विज्ञान शास्त्रियों द्वारा यहाँ शोध किया जा चुका है। कुटुमसर गुफा देखने में इतना अद्भुत है कि प्रकृति ने यदि अपनी खूबसूरती का कोई तोहफा दिया है तो वो ये गुफा है जो पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती है। कुटुमसर गुफा को देखने से हर साल यहाँ देश-विदेश से हज़ारों सैलानी आते है। बरसात के दौरान यह गुफा बंद रहती है। कोटुमसर गुफा को घूमने का सबसे सही समय अक्टूबर से जून का है। इस गुफा से कुछ दूर पर और भी गुफाये और वॉटरफॉल मौजूद है जिसे आप कवर कर सकते है।

और पढ़ें – जयपुर में घूमने की जगहों के बारे में जानकारी

छत्तीसगढ़ का फेमस टूरिस्ट प्लेस जतमई घटारानी मंदिरChhattisgarh ka Famous Tourist Place Jatmai Ghatarani Temple

रायपुर से लगभग 85km दूर गरियाबंद जिले के खूबसूरत घने जंगल में स्थित जतमई घटारानी मंदिर (Jatmai Ghatarani Temple) छत्तीसगढ़ की प्रमुख पर्यटन स्थल में से एक है। जतमई मंदिर और घटारानी मंदिर दोनों अलग-अलग मंदिर है दोनों की बीच की दूरी लगभग 25km है जहाँ हर साल हज़ारो पर्यटकों की भीड़ देखने को मिलती है। यह दोनों जगह अपने अविश्वसनीय प्राकृतिक सौन्दर्य और धार्मिक महत्वों की वजह से पूरे छत्तीसगढ़ की टॉप फेमस प्लेसस में जाना जाता है। जतमई मंदिर और घटारानी मंदिर की बनावट देख आप उसकी खूबसूरती में खो से जायेंगे। चट्टानों के ऊपर बनी यह दोनों मंदिर बेहरीन कारीगिरी का उदाहरण है।

best tourist places in chhattisgarh

जतमई घटारानी टेम्पल आप साल में कभी भी जा सकते है परन्तु बरसात के मौसम में यहाँ का नज़ारा कुछ अलग ही होता है। जतमई घटारानी मंदिर अपने धार्मिक महत्वों के साथ-साथ एडवेंचर पसंदीदा लोगों को भी अपनी ओर आकर्षित करता है। यहाँ बरसात के मौसम में बहुत ही खूबसूरत वॉटरफॉल का निर्माण होता है।जतमई और घटारानी वॉटरफॉल छत्तीसगढ़ की प्रसिद्ध वॉटरफॉल में से एक है। बरसात के समय इन वॉटरफॉल में काफी पर्यटक नहाते और मौज-मस्ती करते दिखाई देते है। अगर आपको अपनी टेंशन से राहत चाहिए तो यह जगह वाकिय में उत्तम स्थान है। जतमई घटारानी प्रकृति प्रेमियों के लिए स्वर्ग के सामान है। यहाँ नवरात्री के समय मंदिर दर्शन के लिए श्रद्धालुओं की काफी भीड़ देखने को मिलती है। अगर आप छत्तीसगढ़ की यात्रा कर रहे है तो जतमई घटारानी जाना बिलकुल भी न भूलें।

और पढ़ें: रायपुर में घूमने की जगहों की संपूर्ण जानकारी।

छत्तीसगढ़ का सबसे प्रसिद्ध पर्यटन स्थल इंदिरावती राष्ट्रीय उद्यान – Chhattisgarh ka Sabse Prasidh Parytan Sthal Indiravati National park in Hindi

छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले में स्थित इंदिरावती राष्ट्रीय उद्यान छत्तीसगढ़ का प्रसिद्ध नेशनल पार्क है। यह नेशनल पार्क अपने विविध वनस्पति, जंगली जानवर और पक्षियों की विभिन्न प्रजाति इत्यादि के लिए जाना जाता है जिसमे बाघ, जंगली भैसों का झुण्ड, तेंदुआ, भालू, गीदड़, जंगली सूअर, चीतल आदि कई जंगली जानवर शामिल है। साथ ही साथ पहाड़ी मैना, चील, वुड पिजन के अलावा पक्षियों के कई प्रजातियाँ देखने को मिलते है। इंदिरावती नेशनल पार्क का नाम यहाँ बहने वाली नदी इंदिरावती के नाम पर रखा गया है। यह पूरा राष्ट्रीय उद्यान 2799.08 km2 क्षेत्र में फैला हुआ है।

national park of chhattisgarh

इंदिरावती राष्ट्रीय उद्यान प्रकृति प्रेमियों के लिए किसी जन्नत से कम नहीं है क्योंकि यह पूरा राष्ट्रीय उद्यान उष्णकटिबंधीय नम शुष्क पर्णपाती वनों और खूबसूरत पहाड़ी श्रृंखलाओं से घिरा हुआ है जहाँ आपको हमेशा पक्षियों की चहचहाने की आवाज़ सुनाई देती है। यह राष्ट्रीय छत्तीसगढ़ की प्रसिद्ध पर्यटन स्थल में से एक है जहाँ हर साल रोमांच से भरी शैर का मज़ा लेने पूरे देश भर से पर्यटक दस्तक देते है। अगर आप अपने फॅमिली के साथ इंदिरावती रास्ट्रीय उद्यान की रोमांचक सफर का आनंद लेना चाहते है तो आपके लिए अक्टूबर-मार्च के बीच का समय काफी सुखद होगा।

नित्कर्ष – Conclusion

तो दोस्तों हमने इस आर्टिकल में आपको छत्तीसगढ़ के टॉप टूरिस्ट प्लेसेस (Chhattisgarh Tourist Places in Hindi) के बारे में जानकारी दी। अगर यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ है तो नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में अपनी प्रतिक्रिया जरूर देवें।

इस आर्टिकल को अपने दोस्तों और फॅमिली को जरूर शेयर करें।

10 thoughts on “छत्तीसगढ़ के Top पर्यटन स्थल की जानकारी 2022|Chhattisgarh Tourist Places in Hindi”

Leave a Comment

%d bloggers like this: