आईएएस कैसे बने|Ias kaise bane 2021

Spread the love

दोस्तों वैसे तो हर बच्चे का एक सपना होता है कि बारहवीं के बाद अपना अच्छा कैरियर बनाए और वह चाहते हैं कि अपने आप को एक सरकारी ऑफिसर के पद में देखें। जिसके चलते सभी बच्चे बारहवीं के बाद अपने चाह अनुसार अलग-अलग क्षेत्रों से सम्बंधित कॉलेजों में पढाई करते हैं और कॉलेज की पढाई के बाद सभी सरकारी नौकरी करना चाहते हैं अगर हम सरकारी नौकरी में ऑफिसर के सर्वश्रेष्ठ पद की बात करें तो IAS, IPS, IFS, IRS, IES आदि पद मौजूद हैं। जिसमें से अधिकतर बच्चे IAS Officer बनने की चाह रखते हैं दोस्तों इस पोस्ट के माध्यम से आप जानेंगे कि IAS kaise bane और आईएएस बनने के लिए क्या करना पड़ता है।

आईएएस (IAS) क्या होता है – आईएएस का काम क्या होता है

IAS का फुल फॉर्म होता है Indian Administrative Service यानि कि भारतीय प्रशासनिक सेवा। IAS अधिकारीयों का चयन संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) द्वारा करवाई गयी परीक्षा को पास करने के बाद होता है अर्थात संघ लोक सेवा आयोग परीक्षा में जो उम्मीद्वार टॉप रैंक हासिल करता है वह उम्मीद्वार IAS Officer पद का हक़दार होता है आईएएस ऑफिसर भारत सरकार का प्रशासनिक सेवक होता है आईएएस ऑफ़िसर अपने जिले का मुखिया होता है जिन्हें अपने जिले में कानून वव्यस्था को लागू करने एवं वव्यस्था को बनाये रखने या नए नीतियों का निर्माण और उनमें कुछ सुधार करने का अधिकार होता है साथ ही साथ सरकार के दैनिक मामलों को संभालने का अधिकार होता है।

IAS kaise bane – Eligibility for IAS Officer

ias kaise bane

अब हम जानते हैं कि IAS बनने के लिए उम्मीदवार के पास क्या Eligibility होनी चाहिए।

नागरिकता (Nationality) यदि आप आईएएस बनना चाहते हैं तो आपका भारत देश का नागरिक होना अनिवार्य है।

योग्यता (Qualification) अधिकतर बच्चों को यही लगता है कि बारहवीं के बाद IAS Banne ke liye higher Qualification की जरूरत होती है और वो यही सोचते है की ias banne ke liye subject कौन सा ले लेकिन हम आपको बताना चाहते हैं कि ऐसा कुछ भी नहीं है आप किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से BA, B.Com, BSC, BBA, BCA और Engineering या Medical या कोई अन्य क्षेत्र में डिग्रीधारी या ग्रेजुएट हैं तो संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की परीक्षा में शामिल होने की पात्रता रखते हैं। कोई छात्र ग्रेजुएशन के अंतिम वर्ष में है तो वह भी Civil Services की परीक्षा में बैठने की अर्हता रखता है।

उम्र (what is age limit for ias) हम किसी भी सरकारी नौकरी की बात करें तो उस सरकारी नौकरी में Category (GEN/ST/SC/OBC) के अनुसार अलग-अलग आयु की मांग होती है। सिविल सर्विस की परीक्षा में शामिल होने के लिए General Category के उम्मीद्वार की आयु 21 से 32 वर्ष होनी चाहिए। OBC Category के लिए के उम्मीद्वार की आयु 21 से 35 वर्ष होनी चाहिए। ST व SC Category के उम्मीद्वार की आयु 21 से 37 वर्ष होनी चाहिए। यदि कोई उम्मीद्वार शारीरिक रूप से विकलांग है तो ST व SC Category के लिए अधिकतम 47 वर्ष, OBC के लिए अधिकतम 45 वर्ष और General Category के लिए अधिकतम आयु सीमा 42 वर्ष तक की है।

Number of Attempts

अकसर लोगों के मन में यही सवाल रहता है कि कब तक हम UPSC की परीक्षा में अपना प्रयास कर सकते हैं तो हम आपको बताना चाहेंगे UPSC की परीक्षा में अधिकतम प्रयास सीमा को Category अनुसार बांटा गया है कि आप कब तक प्रयास कर सकते हैं।

  • अगर आप General Category के उम्मीद्वार हैं तो अपनी अधिकतम आयु सीमा (32 वर्ष) तक सिर्फ 6 बार अपना प्रयास दे सकते हैं।
  • अगर आप OBC Category के उम्मीद्वार हैं तो अपनी अधिकतम आयु सीमा (35 वर्ष) तक सिर्फ 9 बार अपना प्रयास दे सकते हैं।
  • अगर आप ST/SC Category के उम्मीद्वार हैं तो अपनी अधिकतम आयु सीमा (37 वर्ष) तक अपना प्रयास दे सकते हैं। इस Category में कोई भी प्रयास की अंतिम सीमा लागू नहीं की गयी है आप 37 वर्ष तक जितनी बार चाहे प्रयास कर सकते हैं।

दोस्तों अब आपके मन में सवाल आ रहा होगा कि यदि कोई उम्मीद्वार UPSC परीक्षा फॉर्म भर लेता और वह उस परीक्षा में अनुपस्थित होता है तो उसका प्रयास माना जायेगा या नहीं तो हम बताना चाहेंगे कि यदि आप आवेदन करने के बाद उस परीक्षा में शामिल नहीं होते हैं तो वह आपका प्रयास नहीं माना जायेगा। आपका एक प्रयास तभी माना जायेगा जब उम्मीद्वार उस परीक्षा में उपस्थित होता है।

और पढ़े – डाटा साइंटिस्ट बनने के लिए क्या करना पड़ता है?

Exam Pattern

UPSC द्वारा कराये जाने वाले Civil Services के Exam द्वारा IAS Banne ke liye जो Exam Pattern है उसे तीन चरणों में बांटा गया है- 1. Prelims 2. Mains 3. Interview इसके बाद आपका ट्रेनिंग होता है।

Prelims Exam

IAS Banne ke liye सबसे पहले आपको Prelims Exam पास करना होगा। Prelims Exam ऑब्जेक्टिव टाइप का होता है Prelims में दो पेपर होते हैं 1. General Studies 2. C-SAT ये दोनों पेपर 200-200 अंकों के होते हैं लेकिन दोनों पेपर में दिए गए प्रश्नों की संख्या अलग-अलग होती है General Studies में पूछे जाने वाले प्रश्नों की संख्या 100 और C-SAT में पूछे जाने वाले प्रश्नों की संख्या 80 होती है। इस prelims exam को आप हिंदी और अंग्रेजी दोनों ही भाषाओँ में दे सकते हैं। इन दोनों परीक्षाओं की समय सीमा 2-2 घंटे निर्धारित की गयी है।

Mains Exam

Prelims Exam पास कर लेने के बाद Mains Exam होता है अगर आप Prelims Exam पास कर लेते हैं तो आईएएस बनने के पहले पड़ाव को पार कर चुके होते हैं यह Mains Exam आईएएस बनने के लिए बहुत ही महत्तवपूर्ण होता है। इस exam को पास करने के बाद आप Interview राउंड में पहुंचते हैं। आपको बता दें कि Mains Exam में कुल 9 पेपर दिलाने होते हैं जिसके बारे में आपको अच्छी तरह से जानकारी होना अनिवार्य है।

Mains Exam में होने वाले 9 पपेरों में से 7 पेपर आपके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होता है यह 7 पेपर ही आपकी मेरिट सूची में स्थान निर्धारित करती है। इसलिये इन 7 पेपरों में अच्छे से अच्छे अंक प्राप्त करना अनिवार्य है। बाकि बचे 2 पेपर Language के होते हैं जिसमें से पहला पेपर English और दूसरा पेपर Local Language का होता है, जिनके अंक मेरिट के लिए अंकित नहीं किये जाते इन 2 पेपर में आपको बस पास होना जरुरी है परन्तु इसमें कम से कम 33% अंक प्राप्त करना होता है। Local Language का मतलब वह भाषा है जो भारतीय संविधान के 8 वीं अनुसूची में शामिल किये गए हैं जैसे- हिंदी, असम, बंगाली, गुजरती, मराठी, कश्मीरी, सिंधी, ओड़िया, कन्नड़, तमिल और तेलुगु जैसे कुल 22 भाषाएँ शामिल हैं।

Interview

Mains Exam के बाद Interview मुख्य एवं अंतिम चरण होता है जिसमे उम्मीदवार को परखा जाता है कि वह आईएएस ऑफिसर पद के लिए सही उम्मीदवार है या वह उस पद को सँभालने योग्य है सभी तरह से उन्हें परखा जाता है।

Syllabus of Ias Exam

अगर आप आईएएस की तैयारी कर रहे हैं तो आपको इस Exam के syllabus के बारे में संपूर्ण जानकारी होनी चाहिए।

Prelims Syllabus

सबसे पहले हम Prelims Exam के syllabus के बारे में जान लेते हैं कि किस-किस क्षेत्र से प्रश्न पूछे जाते हैं।

Prelims Exam में दो पेपर होते है प्रथम पेपर General Studies का होता है जिसमे 100 प्रश्न पूछे जाते हैं और दूसरा पेपर C-SAT का होता है जिसमे 80 प्रश्न पूछे जाते हैं दोनों पेपर कुल 200-200 अंकों के होते हैं जिसमें 2-2 घंटे का समय दिया जाता है।

Paper-1

राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय महत्व की सामयिक घटनाएंCurrent events of National and International Importance
भारत का इतिहास और भारतीय राष्ट्रीय आंदोलनHistory of India & Indian National Movement
भारत एवं विश्व भूगोल – भारत एवं विश्व का प्राकृतिक, सामाजिक, आर्थिक भूगोल।Indian & World Geography- physical, social, Economic of India & World.
भारतीय राजतन्त्र और शासन, संविधान और राजनैतिक प्रणाली, पंचायती राज और लोक नीति, अधिकारों सम्बन्धी मुद्दे, आदि।Indian Polity and Governance – Consitution, Political System, Pnachayti Raj, Public Policy, Rights Issues, etc
आर्थिक और सामाजिक विकास- सतत विकास, गरीबी, समावेशन, जनसांख्यिकी, सामाजिक क्षेत्र में की गयी पहल आदि।Economic & Social Development- Sustainable Development, Poverty Inclusion, Demographics, Social Sector Initiatives, etc.
पर्यावरणीय पारिस्थितिकी जैव-विविधता और मौसम परिवर्तन संबंधी सामान्य मुद्दे, जिनके लिए विषयगत विशषज्ञता आवश्यक नहीं है।General Issues on Environmental Ecology, Bio-Diversity & Climate Change- that do not require subject spetialization.
सामान्य विज्ञानGeneral Science.

Paper-2

बोधगम्यताComprehension
संचार कौशल अंतर- व्यक्तिक कौशलInterpersonal Skill including Communication Skills.
तार्किक कौशल और विश्लेषणात्मक क्षमताLogical Reasoning & Analytical Ability
निर्णय लेना और समस्या समाधानDecision Making & Problem-Solving.
सामान्य मानसिक योग्यताGeneral Mental Ability
आधारभूत संख्य्नन (संख्याएँ और उनके संबंध विस्तार क्रम आदि – दसवीं कक्षा का स्तर), आंकड़ों का निर्वाचन (चार्ट, ग्राफ, तालिका, आंकड़ों की पर्याप्तता, आदि – दसवीं कक्षा का स्तर)Basic Numeracy (numbers & their relations, orders of magnitude, etc. – Class 10th level), Data Interpretation (Chart, graph, table, data sufficiency, etc. – Class 10th level)

तो दोस्तों बता दें कि आपको Prelims Exam crack करने के लिए समसामयिक घटना (current affairs) पर ज्यादा जोर देना होगा क्योंकि इस पेपर-1 में current events से अधिक से अधिक प्रश्न पूछे जाते हैं इन Current events जैसे कि Indian Foregin relationship, Trade आदि मुद्दों की जानकारी के लिए आपको रोज़ाना The Hindu newspaper, monthly current affairs magzine पढ़ना होगा। इसी आधार पर आप Prelims Exam के मेरिट सूची में अपना स्थान बना पाएंगे।

अब पेपर-2 की बात करें तो यह Qualifying nature का होता है पेपर-2 में सिर्फ आपको 33% अंक प्राप्त करना होता है। पेपर-2 के अंक मेरिट के लिए गणना नहीं की जाती, लेकिन आपका इस पेपर में पास होना जरुरी हैं यदि आप Mains Exam में बैठना चाहते हैं।

Mains Syllabus

विषयअंक
भाषाओँ पर आधारित Qualifying Paper
प्रश्न पत्र – कसंविधान की 8 वीं अनुसूची में सम्मिलित भाषाओँ में से उम्मीदवारों द्वारा चुनी गयी कोई एक भारतीय भाषा300
प्रश्न पत्र – खअंग्रेजी
वरीयता क्रम के लिए जिन प्रश्न पत्रों को आधार बनाया जायेगा
300

नीचे दिए गए 7 प्रश्न पत्रों में प्राप्त अंकों द्वारा ही आपके मेरिट गणना की जाती है।

विषय अंक
प्रश्न पत्र – 1 निबंध250
प्रश्न पत्र – 2सामान्य अध्यन 1
(भारतीय विरासत और संस्कृति, विश्व का इतिहास एवं भूगोल और समाज)
250
प्रश्न पत्र – 3सामान्य अध्यन 2
(शासन वयवस्था, संविधान, शासन प्रणाली, सामाजिक न्याय तथा अंतर्राष्ट्रीय सम्बन्ध)
250
प्रश्न पत्र – 4सामान्य अध्यन 3
(प्रौद्योगिकी, आर्थिक विकास, जैव-विविधता, पर्यावरण, सुरक्षा तथा आपदा प्रबंधन)
250
प्रश्न पत्र – 5सामान्य अध्यन 4
(नीतिशास्त्र, सत्यनिष्ठा और अभिरुचि)
250
प्रश्न पत्र – 6वैकल्पिक विषय प्रश्न पत्र- 1250
प्रश्न पत्र – 7वैकल्पिक विषय प्रश्न पत्र- 2250
उपयोग (लिखित परीक्षा) 1750
व्यक्तिगत परीक्षण275
कुल योग 2025

Interview of Ias

UPSC Mains Exam clear कर लेने के बाद Interview देना होता है Interview में बहुत से सवाल पूछे जाते हैं पूछे गए सवालों का जवाब पुरे आत्मिश्वास के साथ देना होता है जिसके बाद ही आप आईएएस/आईपीएस/आईएफएस बन सकते है। बहुत से लोगो में इंटरव्यू को लेकर डर रहता है लेकिन डरने या घबराने की कोई बात नहीं है नीचे दिए गए कुछ महत्वपूर्ण बातों को ध्यान में रखकर Interview में एक अच्छा अंक सकते हैं।

इंटरव्यू में ध्यान रखने योग्य महत्वपूर्ण बातें-

  • इंटरव्यू हॉल में प्रवेश करते ही वहां बैठे सभी पैनल मेंबर का अभिवादन जरूर करें।
  • जो भी सवाल आपसे पूछा जाये उसका जवाब आप पूरी ईमानदारी से दे न की इधर उधर की बाते करें।
  • आप इंटरव्यू हॉल रिलैक्स और पुरे आत्मविश्वास के साथ बैठें और हो सके तो कोशिश करें कि हाथ पैर न हिलाएं।
  • इंटरव्यू की पहली रात अपनी नींद पूरी कर लें यह सोचने में अपना समय बिलकुल भी न गवाएं कि कल इंटरव्यू में कैसे सवाल पूछे जायेंगे।
  • जब इंटरव्यू लिया जा रहा हो तो उसे साधारण बात चीत की तरह लें और सवाल के प्रति अपना मत रखने की कोशिश करें।
  • अपने आपको बढ़ा-चढ़ा कर प्रस्तुत करने की कोशिश बिल्कुल न करें।
  • Interviewer के द्वारा पूछे जा रहे सवाल के खत्म होते तक उस सवाल को ध्यान से सुने जब सवाल खत्म हो जाये तब अपना मत रखें।
  • अगर आपसे कुछ गलती हो जाती है तो उसे स्वीकार करे, यह आपके सिखने की प्रवृत्ति और ईमानदारी को दर्शाता है।
  • पुरे इंटरव्यू के दौरान अपने आपको शांत और एकाग्र रखें।

और पढ़े – कमर्शियल पायलट बनने के लिए क्या करना पड़ता है?

आईएएस की सैलरी– IAS ki Salary in Hindi

सातवें वेतनमान आयोग की सिफारिश के अनुसार आईएएस के पद को अलग-अलग श्रेणियों में बांटा गया है जिसके आधार पर आईएएस की सैलरी निर्धारित की गयी है शुरुआती तौर पर एक आईएएस की नियुक्ति सब डिविशनल मजिस्ट्रेट (SDM), सब डिविशनल ऑफिसर (SDO) के पद पर होती है तथा शुरुआत में IAS ki basic salary 56100 रुपये होती है और आईएएस की पदोन्नति होते-होते भारत के कैबिनेट सेक्रेटरी के पद पर पहुंच जाते हैं तब उनकी सैलरी 270000 रुपये फिक्स्ड हो जाती है।

आईएएस की बेसिक सैलरी के अलावा DA, HRA, TA, Medical Allowence और भी बहुत प्रकार की सुविधाएं केंद्र सरकार द्वारा प्रदान की जाती है। जिन आईएएस ऑफिसर को सरकारी आवास प्रदान किया जाता है उन्हें HRA (House Rent Allowence) की सुविधा नहीं दी जाती है। DA (Dearness Allowence) अलग-अलग cities के हिसाब से अलग-अलग होती है। Class A cities के लिए ज्यादा और Class C cities के लिए A की अपेक्षा कम होती है। HRA बेसिक सैलरी का 8% से 24% तक होता है।

आईएएस को मिलने वाली सुविधाएं- Facilities of IAS in HIndi

एक आईएएस को भारत सरकार द्वारा बहुत सी सुविधाए प्रदान की जाती है।

आईएएस ऑफिसर को उनके पदस्थ जिले में शहर के सबसे अच्छे, शांत और वीआईपी जगह पर रहने के लिए सरकार द्वारा आवास प्रदान किया जाता है। और आवास के रखरखाव, भोजन आदि की व्यवस्था के लिए स्टाफ प्रदान किये जाते हैं। आवास के बिजली का सारा खर्च भी सरकार द्वारा ही किया जाता है।

एक आईएएस को दूरसंचार से सम्बंधित सारी सुविधाएं मुफ्त में उपलब्ध कराई जाती है जैसे उनके निवास स्थान में एक लैंडलाइन, इंटरनेट कनेक्टिविटी के लिए ब्रॉडबैण्ड कनेक्शन, calling और messaging के लिए 3 BSNL का SIM प्रदान किया जाता है।

किसी भी सरकारी आयोजनों में जाने और अपने मुख्यालय तक आने जाने के लिए एक आईएएस ऑफिसर को कम से कम 1 और अधिकतम 3 सरकारी वाहन ड्राइवर सहित दिए जाते हैं इन वाहनों में उपयोग होने वाले ईंधन रखरखाव जिनका सारा खर्च सरकार द्वारा वहन किया जाता है।

सरकारी या गैर सरकारी यात्रा के दौरान एक आईएएस ऑफिसर सर्किट हाउस, सरकारी बंगलो और अलग अलग राज्यों के विश्राम गृहों में रियायती दरों में ठहर सकते हैं।

सरकार द्वारा एक आईएएस की सुरक्षा का खासा ध्यान रखती है राज्य मुख्यालय में पदस्थ आईएएस की कद सुरक्षा के लिए 3 होमगार्ड, 2 बॉडीगार्ड और उनके जान का खतरा होने की स्थिति में एक STF commando की भी तैनाती की जाती है। जिला मजिस्ट्रेट और जिला आयुक्त के पद पर नियुक्त आईएएस ऑफिसर के अंतर्गत उस जिले का संपूर्ण पुलिस बल होता है जिसका वे अपनी सुरक्षा के लिए सुनियोजित तरीके से इस्तेमाल कर सकते हैं।

आईएएस के पद पर पदस्थ होने के बाद यदि वह उच्च शिक्षा प्राप्त करना चाहता है तो उन्हें विदेशी विश्वविद्यालय में अध्ययन के लिए 4 साल का अध्ययन अवकाश भी प्रदान किया जाता है जिसका सारा खर्च सरकार स्वयं वहां करती है।

इन सारी सुविधाओं के अलावा अन्य सुविधाएं भी उपलब्ध कराना भी सरकार की जिम्मेदारी होती है जैसे कि PF, Medical Claim और आजीवन पेंशन आदि सुविधाएं।

निष्कर्ष- Conclusion

हमने आपको Ias kaise bane और Ias Banne ke Liye kya karna Padta hai तो सारी प्रक्रियाओं के बारे में उसके अध्ययन से लेकर Exam Pattern, सिलेबस, आईएएस की सैलरी और उन्हें मिलने वाली सारी सुविधाओं के बारे में संपूर्ण जानकारी विस्तार से देने की कोशिश की है।

आपको यह आर्टिकल कैसा लगा, नीचे Comment Box में अपनी प्रतिक्रिया जरूर दें। और आईएएस से सम्बंधित और भी जानना चाहते हों, कुछ सवाल हो तो भी आप नीचे Comment करके पुछ सकते हैं हम आपके सवालों का जवाब अवश्य देंगे।

Leave a Comment

%d bloggers like this: